• Sign up (email address required) to post comments, write blogs, or to volunteer.
  • The username (in email address) cannot have hyphen (-) or space.
  • If our mails do not reach you or something is pending, please contact us.

आनंद वाटिका ग्रीन गुरुकुलम के सह-संस्थापक ने किया छात्रों के साथ संवाद

Banner Image: 

मदननेगी, टिहरी गढ़वाल, 9 अक्तूबर 2017: आनंद वाटिका ग्रीन गुरुकुलम के सह-संस्थापक Suresh Nautiyal ने गत एक और दो अक्तूबर को भौन्याड़ा और मदननेगी में गुरुकुलम के छात्रों के साथ संवाद कर उन्हें प्रेरित किया. 
श्री सुरेश नौटियाल ने बच्चों से कहा कि वे जो कुछ भी अपने गुरुओं से सुनते और सीखते हैं उसे अपनी स्मृति में संजोकर अपने जीवन में प्रयोग करें. उन्होंने कहा कि जीवन में सफल होने के लिए अच्छी शिक्षा, अच्छे विचार और रचनात्मक दृष्टिकोण आवश्यक हैं.

ग्रीन गुरुकुलम के सह-संस्थापक ने कहा कि सार्थक शिक्षा को अपने जीवन में उतारने से ही मानवता की सच्ची सेवा होती है. उन्होंने कहा कि छात्रों को पुस्तकों के अतिरिक्त अपने माता-पिता, अपने समाज-परिवेश और वाह्य-जगत से भी सीखना चाहिए. सूचना और ज्ञान के अच्छे समिश्रण से ही व्यक्तिगत जीवन का स्तर उठाया जा सकता है तथा समाज और धरती के ऋण को कम किया जा सकता है.

श्री नौटियाल ने कहा कि हम जितना धरती और उसके संसाधनों से लेते हैं, कम से कम उतना तो धरती को वापस देने के लिए काम करना चाहिए. उन्होंने कहा कि धरती के संसाधनों का उपयोग इस ढंग से करना चाहिए कि आने वाली पीढ़ियों के लिए किसी प्रकार की कमी न हो और इस लक्ष्य की पूर्ति अपने स्वार्थों को तिलांजलि देने से ही होगी.

इस अवसर पर उपस्थित आनंद वाटिका ग्रीन गुरुकुलम की सह-संस्थापिका और प्रिंसिपल Anita Nautiyal ने बताया कि देश के विभिन्न क्षेत्रों से आकर अतिथि शिक्षक गुरुकुलम के शिक्षालयों में छात्रों को नूतन और विज्ञान आधारित शिक्षा प्रदान कर रहे हैं.

गुरुकुलम के टीचर्स लक्ष्मीप्रसाद भद्री और रेशमा जोशी ने विद्यालय की गतिविधियों और आगामी विज्ञान सप्ताह की तैयारियों के बारे में श्री सुरेश नौटियाल को जानकारी दी.